Website is under development. Some of the contents may not be up to date.

हिन्दी पखवाड़ा 2013

19 September,2013

राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद में प्रतिवर्ष 14 सितंबर को हिन्दी दिवस समारोह का आयोजन किया जाता रहा है। इस वर्ष प्रथम बार सक्षम प्राधिकार द्वारा राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद में 2 से 16 सितंबर, 2013 के मध्य हिन्दी पखवाड़ा का आयोजन किये जाने का निर्णय लिया गया। इस दौरान जिन विभ्भिन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया उनकी तिथिवार संक्षिप्त विवरणी इस प्रकार है-















































क्रम सं0


दिनांककार्यक्रम/प्रतियोगिता
 1.2.09.2013हिन्दी पखवाड़ा का शुभारंभ एवं हिन्दी श्रुतिलेख प्रतियोगिता
 2.4.09.2013भाषण प्रतियोगिता (विषय-विज्ञान एवं समाज)
 3.6.09.2013हिन्दी अनुवाद प्रतियोगिता
 4.9.09.2013हिन्दी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता
 5.11.09.2013हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता
 6.13.09.2013हिन्दी निबंध प्रतियोगिता (विषय-जल ही जीवन है)
 7.16.09.2013हिन्दी कार्यशाला (पूर्वाहन)पुरस्कार वितरण एवं पखवाड़ा समापन कार्यक्रम (अपराहन)

 

प्रथम दिन यानि 2.09.2013 को अपराहन तीन बजे श्री ए0 एस0 मानेकर, उप-महानिदेशक, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद एवं श्री एस0 चौधुरी, निदेशक, केन्द्रीय गवेषणा एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला सह अध्यक्ष, हिन्दी कार्यान्वयन समिति द्वारा हिन्दी पखवाड़ा के कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इसके पश्चात इस दिन हिन्दी श्रुतिलेख प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें पचास चयनित शब्दों को रखा गया। इन शब्दों में ज़्यादातर ऐसे शब्द चुने गए थे जो कार्यालय की संचिकाओं में व्यवहार किए जाते हैं या कार्यालय में प्रयोग में लाये जाते हैं। इसके अलावा विज्ञान से संबन्धित कुछ शब्द भी रखे गए थे। इन शब्दों के चयन के पीछे यह उद्देश्य था कि कार्यालय के अधिकारी और कर्मचारी उन हिन्दी शब्दों या शब्दावली से परिचित हो सकें जो कार्यालय में आमतौर पर प्रयोग किए जाते हैं।


द्वितीय दिन यानि 4.09.2013 को विज्ञान एवं समाज विषय पर भाषण प्रतियोगिता आयोजित की गयी। प्रत्येक प्रतिभागी को इस विषय पर बोलने हेतु पाँच मिनट का समय दिया गया।


तृतीय दिन यानि 6.9.2013 को हिन्दी अनुवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसके तहत अँग्रेजी में एक अनुच्छेद दिया गया, जिसे हिन्दी में अनुवाद करने हेतु आधे घंटे का समय दिया गया। उक्त अनुच्छेद हाल में ही उदघाटित ‘जोरहाट विज्ञान केंद्र’ पर आधारित था।


चतुर्थ दिन यानि 9.9.2013 को हिन्दी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसके तहत हिन्दी की सामान्य जानकारी से संबन्धित प्रश्न यथा पर्यायवाची शब्द, विलोम शब्द, अनेक शब्दों के लिए एक शब्द, मुहावरे एवं लोकोक्तियाँ, इत्यादि से संबन्धित प्रश्न रखे गए थे। इस प्रतियोगिता के आयोजन के पीछे यह उद्देश्य था कि राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद के अधिकारी और कर्मचारी हिन्दी भाषा की सामान्य जानकारी से अवगत हो सकें।


पंचम दिन यानि 11.9.2013 को हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इसमे भाग लेने वाले कुछ प्रतिभागियों ने हिन्दी के प्रसिद्ध कवियों की कविताओं का पाठ किया, वहीं कुछ अन्य प्रतिभागियों ने स्वरचित कविताओं का।


छठे दिन यानि 13.9.2013 को हिन्दी निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। विषय था- ‘जल ही जीवन है। इस प्रतियोगिता हेतु पैंतालीस मिनट का समय रखा गया और शब्द सीमा 300 शब्दों की रखी गयी। चूंकि वर्ष 2013 को ‘अंतरराष्ट्रीय जल सहयोग वर्ष’ के रूप में मनाया जा रहा है, अतः निबंध हेतु इस विषय का चयन किया गया था।


सातवें दिन यानि 16.9.2013 को पूर्वाहन में हिन्दी कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में राजभाषा की एक अधिकारी श्रीमति श्रुति मिश्रा द्वारा कार्यशाला का संचालन किया। उनके द्वारा हिन्दी की वर्णमाला, शब्द विन्यास, कार्यालय में प्रयोग होने वाली शब्दावली, संचिका लेखन की विधि इत्यादि से राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद के अधिकारी एवं कर्मचारियों को अवगत कराया गया।


इसी दिन अपराहन में तीन बजे से श्री जी0 एस0 रौतेला, महानिदेशक, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद, श्री एस0 चौधुरी, निदेशक, केन्द्रीय गवेषणा एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला सह अध्यक्ष, हिन्दी कार्यान्वयन समिति, श्री समरेन्द्र कुमार, निदेशक (मुख्यालय) एवं श्री सी0 के0 दास, सचिव, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा समापन समारोह की शुरुआत की गयी। सर्वप्रथम श्री समरेन्द्र कुमार, निदेशक (मुख्यालय) द्वारा स्वागत भाषण प्रस्तुत किया गया। अपने भाषण में उन्होने हिन्दी दिवस के आयोजन के औचित्य की चर्चा की एवं कार्यालय में हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने की बात कही।


इसके बाद एक प्रतिभागी ने इस पखवाड़ा के आयोजन से संबन्धित अपने अनुभव साझा किए। इसके पश्चात श्री एस0 चौधुरी, निदेशक, केन्द्रीय गवेषणा एवं प्रशिक्षण प्रयोगशाला सह अध्यक्ष, हिन्दी कार्यान्वयन समिति द्वारा अपने भाषण में इस कार्यालय में हिन्दी के प्रयोग को बढ़ावा देने हेतु पूर्ण सहयोग करने का आश्वासन दिया गया। इसके पश्चात श्री सी0 के0 दास, सचिव, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद ने कार्यालय में हिन्दी भाषा के प्रयोग के संबंध में अपने अनुभव साझा किए। साथ ही कुछ सुझाव भी प्रस्तुत किए। तत्पश्चात, श्री जी0 एस0 रौतेला, महानिदेशक, राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद द्वारा अध्यक्षीय भाषण प्रस्तुत किया गया। अपने भाषण में उन्होने इस कार्यालय में और ज्यादा हिन्दी प्रयोग करने पर बल दिया। साथ ही प्रतिमाह हिन्दी में कोई ना कोई कार्यक्रम यथा भाषण, परिचर्चा इत्यादि कराने हेतु कार्य योजना बनाने का निदेश भी दिया।


इसके पश्चात इन अधिकारियों द्वारा विभ्भिन प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रमाण-पत्र प्रदान किए गए। प्रत्येक दिन की प्रतियोगिता हेतु तीन पुरस्कार प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय तथा तीन प्रोत्साहन पुरस्कार प्रदान किए गए। इस प्रकार कुल छः दिनों की प्रतियोगिता हेतु छतीस पुरस्कार प्रदान किए गए।


पुरस्कार वितरण के पश्चात कार्यक्रम का संचालन कर रहे श्री सत्यजित नारायण सिंह, जनसम्पर्क अधिकारी द्वारा धन्यवाद ज्ञापन किया गया। सभी के उत्साह को देखते हुए इस उम्मीद के साथ कार्यक्रम समाप्त किया गया कि अगले वर्ष अधिक प्रतियोगिताएं होंगी और इस आयोजन को कुछ और विस्तृत बनाया जा सकेगा।



Download Report