Website is under development. Some of the contents may not be up to date.

जोरहाट विज्ञान केंद्र एवं तारामंडल

6 July,2013

जोरहाट विज्ञान केंद्र एवं तारामंडल का उदघाटन दिनांक 6 जुलाई 2013 को श्री तरुण गोगोई, माननीय मुख्यमंत्री असम एवं श्रीमति चंद्रेश कुमारी कटोच, माननीय संस्कृति मंत्री, भारत सरकार के कर कमलों द्वारा सम्पन्न हुआ। 1300 वर्ग फीट में फैले इस केंद्र का विकास राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद के द्वारा किया गया है। इस केंद्र में ‘तेल की कहानी’ पर विषयगत दीर्घा, विज्ञान के सामान्य सिद्धांतों पर आधारित एक ‘मनोरंजक विज्ञान’ दीर्घा, एक पूरी तरह से स्वचालित कम्प्यूटरीकृत तारामंडल और एक हारा-भरा विज्ञान उद्यान है। ‘तेल की कहानी’ दीर्घा पेट्रोलियम अन्वेषण के क्षेत्र में ऐतिहासिक घटनाक्रम,  व्यधन एवं वितरण को अंतर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय दृष्टिकोण से प्रदर्शित करती है। मनोरंजक विज्ञान दीर्घा आगंतुकों के लिए बातचीत कर पता लगाने, अन्वेषन  और बेहद मनोरंजक परिवेश में विज्ञान के विभिन्न पहलुओं का अनुभव करने के लिए अवसरों से भरा है।

जोरहाट विज्ञान केंद्र एवं तारामंडल की दीर्घाओं की कुछ झलकियाँ: