अहिंदी भाषी कर्मियों ने की सक्रिय भागीदारी

आज दिनांक 3 सितंबर को राष्ट्रीय विज्ञान संग्रहालय परिषद (रा.वि.सं.प.) जो कि संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार के अंतर्गत एक स्वायत संस्था है, में हिन्दी पखवाड़ा कार्यक्रमों की शुरुआत की गयी। इसके अंतर्गत आज ‘हिन्दी श्रुतिलेख’ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में कार्यालय में प्रयोग होने वाले पचास विभिन्न शब्द एवं शब्द समूह रखे गए थे। इन शब्दों का बारी-बारी से मंच से उच्चारण किया गया और सभी प्रतिभागियों को उन शब्दों या शब्द समूहों को उत्तर पत्रक पर लिखना था।

रा.वि.सं.प. के विभिन्न अनुभागों यथा प्रशासन, भंडार, वित्त, सिविल इत्यादि के अधिकारी और कर्मचारियों ने बढ़-चढ़ कर इस कार्यक्रम में हिस्सा लिया। ज़्यादातर प्रतिभागियों की मातृभाषा हिन्दी ना होने के बावजूद उन्होने इस प्रतियोगिता में हिस्सा लिया और काफी हद तक शब्दों को सही लिखा। एक अहिंदी भाषी प्रतिभागी ने बताया कि ‘यह सिर्फ भारत सरकार की हिन्दी को प्रोत्साहित करने की कोशिशों के कारण ही संभव हो सका है। इसी कारण हम जैसे कई अहिंदी भाषी लोगों ने हिन्दी लिखना और बोलना सीख लिया है। इससे हमें कार्यालय के कई कार्यों में अब सुविधा होने लगी है।’यहाँ यह ध्यातव्य है कि रा.वि.सं.प. के हिन्दी के प्रयोग को प्रोत्साहित करने के प्रयासों की इसी वर्ष संस्कृति मंत्रालय के निदेशक राजभाषा ने सराहना की थी।

ज्ञात हो कि 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने हिन्दी को राजभाषा के रूप में अंगीकृत किया था। इस कारण हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है। हिन्दी पखवाड़ा का आयोजन उसी प्रयास का विस्तृत रूप है।

इस पखवाड़ा के दौरान रा.वि.सं.प. में आयोजित होने वाली विभिन्न प्रतियोगिताएं एवं कार्यक्रम इस प्रकार हैं:

क्रम सं0 दिनांक समय कार्यक्रम/ प्रतियोगिता
03.09.2014 अपराहन 3 बजे उदघाटन समारोह एवं हिन्दी श्रुतिलेख प्रतियोगिता
05.09.2014 अपराहन 3 बजे भाषण प्रतियोगिताविषय-‘स्वास्थ्य ही धन है’
06.09.2014 अपराहन 3 बजे हिन्दी अनुवाद प्रतियोगिता
08.09.2014 अपराहन 3 बजे हिन्दी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता
10.09.2014 अपराहन 3 बजे हिन्दी कविता पाठ प्रतियोगिता
12.09.2014 अपराहन 3 बजे हिन्दी निबंध प्रतियोगिता (300 शब्द)विषय-‘विज्ञान एवं अंधविश्वास’
15.09.2014 अपराहन 2 बजे हिन्दी कार्यशाला,पुरस्कार वितरण एवं पखवाड़ा समापन

 

जैसा कि ऊपर वर्णित है अगली प्रतियोगिता दिनांक 05.09.2014 को भाषण प्रतियोगिता है, जिसका विषय है – ‘स्वास्थ्य ही धन है’। इस प्रतियोगिता हेतु सभी प्रतिभागियों को 5 मिनट का समय दिया जाएगा। जिस दौरान वो दिये गए विषय पर अपने उद्गार व्यक्त कर सकते हैं।

पखवाड़ा के अंतिम दिन यानि 15 सितंबर को हिन्दी कार्यशाला एवं पुरस्कार वितरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। सभी प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कारों के अलावा चार व्यक्तियों को प्रोत्साहन पुरस्कार भी दिया जाएगा। सभी प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार विजेताओं को क्रमशः रुपये 1000, 750 एवं 500 नगद दिये जाएंगे। इसके अलावा प्रोत्साहन पुरस्कार के रूप में रुपये 250/- प्रत्येक को दिया जाएगा।

दिनांक- 03.09.2014

स्थान: कोलकाता

View Photos

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


  • × 5 = forty five